Raksha Bandhan

Raksha Bandhan


Raksha Bandhan is observed on the last day of the Hindu lunar calendar month of Shraavana, which typically falls in August. The expression "Raksha Bandhan," ...



हिंदू पंचांग के अनुसार, सावन की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त 2022 को सुबह 10 बजकर 38 मिनट से ...

Raksha Bandhan is an Indian Hindi-language comedy-drama film directed by Aanand L. Rai and written by Himanshu Sharma and Kanika Dhillon. It is produced by Zee Studios, Colour Yellow Productions and Cape of Good Films. The film stars Akshay Kumar and Bhumi Pednekar. The music is composed by Himesh Reshammiya



Release date: 11 August 2022 (India)







Distributed by: thestady






 22 August (Sun)



Also called: Rakhi, Saluno, Silono, Rakri



2022 date: 11 August (Thurs)


Date: Purnima (full moon) of ‎Shrawan












  • रक्षा बंधन 2022: प्रदोष काल में बांधे भाई की कलाई में राखी, केवल 22 मिनट है मुहूर्त की अवधि






  • 5 unique gift ideas for your sister on Raksha Bandhan











  • Raksha Bandhan 2022: रक्षाबंधन तक 4 राशियों पर मुसीबत! मंगल-राहु का ये अशुभ योग बढ़ाएगा मुश्किल


2 days ago













Raksha Bandhan 2022 Date श्रावण महीने की पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला भाई-बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन गुरुवार 11 अगस्त 2022 की शाम से आरम्भ होकर शुक्रवार 12 अगस्त 2022 को सुबह तक चलेगा। बहनें पूर्णिमा तिथि में ही अपने भाई को रक्षा सूत्र बांधती हैं।





























  • 1905 में बंगाल के विभाजन के दौरान, रवींद्रनाथ टैगोर ने राखी महोत्सव की शुरुआत की - एक सामूहिक रक्षा बंधन त्योहार, बंगाल के हिंदुओं और मुसलमानों के बीच एकता और प्रेम की भावना पैदा करने के लि



































क्या राखी सिर्फ परिवार वालों को ही बांधी जाती है? नहीं, राखी केवल भाइयों या पुरुष चचेरे भाइयों को ही नहीं बांधी जाती है। आज, पड़ोस के लोगों, करीबी पारिवारिक मित्रों और बहनों को राखी बांधी जाती है। यह लोगों के बीच प्यार पैदा करने और उनके लिए शुभकामनाएं देने का एक तरीका है।













1-इंद्र और शचि की कथा

लेकिन माना जाता है कि सबसे पहले राखी या रक्षासूत्र देवी शचि ने अपने पति इंद्र को बांधा था। पौरणिक कथा के अनुसार जब इंद्र वृत्तासुर से युद्ध करने जा रहे थे तो उनकी रक्षा की कामना से देवी शचि ने उनके हाथ में कलावा या मौली बांधी थी। तब से ही रक्षा बंधन की शुरूआत मानी जाती है





















Post a Comment

Previous Post Next Post